मेवों द्वारा चिकित्सा: Dry Fruits Home Remedies

$12
Quantity
Ships in 1-3 days
Item Code: HAA151
Author: डॉ गणेश नारायण चौहान: (Dr. Ganesh Narayan Chauhan)
Publisher: Popular Book Depot
Language: Hindi
Edition: 2012
ISBN: 9788190551922
Pages: 72
Cover: Paperback
Other Details 8.5 inch X 5.5 inch
Weight 130 gm
Fully insured
Fully insured
Shipped to 153 countries
Shipped to 153 countries
More than 1M+ customers worldwide
More than 1M+ customers worldwide
100% Made in India
100% Made in India
23 years in business
23 years in business

मेवे (DRY FRUITS)

 

 हमारा स्वास्थ्य हमारी रसोई में बनता बिगड़ता है । स्वास्थ्य का सुधार भी रसोई में होता है । प्रत्येक रोग को ठीक करने में हमारा शरीर समर्थ है । मौसम के अनुसार खाये जाने वाले फल, सब्जियाँ, मेवे व्यक्ति को स्वस्थ रखते हैं । इनमें पर्याप्त मात्रा में एन्टी ऑक्सीडेन्ट होते हैं जो शरीर की कोशिकाओं में पैदा होने वाले, शरीर को नष्ट करने वाले ऑक्सीडेन्ट की सफाई करते हैं । मौसमी फलों, सब्जियाँ और मेवे खाने वालों को औषधियों की आवश्यकता बहुत कम होती है । सुखी जीवन के लिए गहरी, भरपूर नींद स्वास्थ्य में चमक बढ़ा देती है । रोग। होने पर सबसे अच्छी औषधि है विश्राम और प्राकृतिक आहार प्रकृति स्वयं शरीर को अच्छा करती है। आवश्यकता है कि हम प्राकृतिक जीवन जीये । डिब्बा बन्द, फूड, स्वाद हेतु तले, चटपटे पदार्थ नहीं खायें । प्रकृति ने जो खाद्य पदार्थ पैदा किये हैं, उनके गुणों को समझकर जिस पदार्थ की आवश्यकता हो, उसका सेवन करें ।

पौष्टिक और शक्ति बढ़ाने वाले खाद्यों में मेवे बहुत लाभदायक हैं । सही ढग और सही मात्रा में अपनी क्षमता के अनुसार मेवे खाने से शरीर तो स्वस्थ होता ही है, रहता है. साथ ही अनेक रोगों की चिकित्सा भी हो जाती है ।

मेवों को भोजन का अंग समझ कर खायें । मेवे दूध से ज्यादा पौष्टिक हैं । मेवे भोजन मे साथ भी खा सकते हैं । मेवे शरीर को शक्ति देने के साथ साथ रोगों को दूर करते है. दूध की कमी पूरी करते हैं । मेवे खाकर दूध का लाभ लिया जा सकता है । मेवों में प्रोटोन होता है, बादाम और मूँगफली में प्रोटीन अधिक होता है । मेवों में चिकनाई होती कै घी के अभाव में मेवों का उपयोग कर घी का लाभ लिया जा सकता है । मेवों में विटामिन बी. कैल्शियम और लोहा पर्याप्त मात्रा में होता है । मेवे कच्चे खाये जा सकते जै इसलिए कच्चे भोजन के गुण इनसे प्राप्त हो जाते हैं । मेवे पीसकर, चबाकर, किसी चीज में मिलाकर खाये जा सकते हैं । मेवे स्वादिष्ट होते हैं । इसलिए मेवों की माँग सदा बनी रहेगी । मेवे अपने आप में पूर्ण भोजन हैं।

सर्दी के मौसम में पाचनशक्ति तेज रहती है । सभी गरिष्ठ, भारी चीजें जैसे मेवे, उड़द, खीर आदि सरलता से पच जाते हैं।

 

विषय सूची

1

मुनक्का

3 से 6

2

किशमिश

6 से 7

3

अंजीर

7 से 11

4

खजूर

12 से 17

5

छुहारा

17 से 20

6

पिस्ता

20 से 21

7

केसर

21 से 25

8

खस खस (पोस्त के दाने)

25

9

बादाम

25 से 37

10

काजू

37 से 39

11

अखरोट

39 से 43

12

गुलकन्द

43

13

पतासे

43

14

मिश्री

44 से 45

15

तालमखाना

45

16

चिरौंजी

46

17

चिलगोजा

46 से 47

18

मूँगफली

47 50

19

नारियल

50 से 52

20

सिंघाड़ा

52 से 53

21

तिल

53 से 59

 

Add a review
Have A Question

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES