Please Wait...

प्रेरक कहानियाँ: Stories Which Inspire

प्रेरक कहानियाँ: Stories Which Inspire
$5.00
Item Code: GPA151
Author: राजेंद्र कुमार धवन: (Rajendra Kumar Dhavan)
Publisher: Gita Press, Gorakhpur
Language: Hindi
Edition: 2014
Pages: 80
Cover: Paperback
Other Details: 8.5 inch X 5.5 inch
weight of the book: 60 gms

प्राक्कथन

बालक हो, युवा हो अथवा वृद्ध हो, सबकी कहानियाँ सुननेमें स्वाभाविक रुचि रहती है । समाजके उत्थान और पतनमें कहानियाँ महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं । सन्तोंके मुखसे निःसृत कहानियाँ जहाँ समाजमें अमृत (सद्गुण सदाचार) की गंगा बहाती हैं, वहीं सांसारिक उपन्यास, सिनेमा, टेलीविजन आदिके द्वारा प्रसारित कहानियाँ समाजमें विष (दुर्गुण दुराचार) की सरिता बहाती हैं । बालककी प्रथम गुरु माँ भी कहानियोंके माध्यमसे ही उसके कोमल हृदयमें अच्छे संस्कार जाग्रत् करती है, जो उसके भावी जीवनको उन्नत बनानेमें सहायक होते हैं ।

पारमार्थिक विषयको सरलतासे समझनेमें भी कहानियाँ बहुत सहायक होती हैं । पौराणिक कहानियों (कथाओं) का भी यही तात्पर्य है कि पारमार्थिक विषय सरलतासे समझमें आ जाय । कठिन से कठिन पारमार्थिक बातोंको भी कहानियोंके सहारे सुगमतापूर्वक समझकर जीवनमें उतारा जा सकता है । कहानियोंके द्वारा मित्रसम्मित अथवा कान्तासम्मित उपदेश प्राप्त होता है, जो मनुष्यको स्वभावत: प्रिय होता है । इसलिये श्रद्धेय श्रीस्वामीजी महाराज अपने प्रवचनोंमें मार्मिक विषयको समझानेके उद्देश्यसे अनेक कहानियाँ कहा करते हैं, गे आबालवृद्ध सभी श्रोताओंके हृदयपर गहरा प्रभाव छोड़ती हैं । उनमेंसे बत्तीस कहानियोंका संकलन पहले आदर्श कहानियाँ के नामसे प्रकाशित हो चुका है । अब तीस कहानियोंका संकलन प्रस्तुत पुस्तकके रूपमें प्रकाशित किया जा रहा है । आशा है, पाठकगण इन रोचक एवं ज्ञानप्रद कहानियोंको पसन्द करेंगे और इनकी शिक्षाओंको अपने जीवनमें उतारनेकी चेष्टा करेंगे ।

 

विषय सूची

1

बुद्धिमान् बनजारा

5

2

ठण्डी रोटी

7

3

सन्तोंकी शरण

9

4

मरकर आदमी कहाँ गया?

11

5

एक फूँककी दुनिया

13

6

चार साधु और चोर

15

7

सच्चा स्वाँग

20

8

महलमें कमी

24

9

हीरेका मूल्य

26

10

इन्द्रकी पोशाक

31

11

असली गहना

32

12

कंजूसीका परिणाम

36

13

जब साधु राजा बना

38

14

दूसरेका कल्याण कौन कर सकता है

40

15

निन्यानबेका चक्कर

41

16

गधेसे मनुष्य बनाना

43

17

रात कैसी बीती

45

18

ससुरालकी रीति

47

19

अब छाछको सोच कहा कर है!

50

20

वहम मिट गया

53

21

विलक्षण अतिथि सत्कार

55

22

एक शहरमें चार साधु

58

23

चार आशीर्वाद

60

24

आज्ञापालनकी महिमा

61

25

विलक्षण साधना

63

26

हल्ला मत करो

67

27

जगत्की प्रीत

68

28

सौ रुपये की एक बात

70

29

बोला तो मरा!

73

30

त्यागके आदर्श (सच्ची घटनाएँ)

75

 

Add a review

Your email address will not be published *

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

Post a Query

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

Related Items