Please Wait...

बंकिमचंद्र प्रतिनिधि निबंध: Bankim Chandra Representative Essays

बंकिमचंद्र प्रतिनिधि निबंध: Bankim Chandra Representative Essays
$21.00
Item Code: NZD012
Author: प्रयाग शुक्ल (Prayag Shukla)
Publisher: National Book Trust
Language: Hindi
Edition: 2012
ISBN: 9788123714578
Pages: 225
Cover: Paperback
Other Details: 8.5 inch X 5.5 inch
weight of the book: 290 gms

पुस्तक के विषय में

बंकिमचंद्र (सन् 1838-1894) के श्रेष्ठ निबंधों का यह संकलन उनकी रचनावली से चुनकर तैयार किया गया है । इन निबंधों की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इनमें डेढ़ सौ वर्ष पूर्व उठाए गए प्रश्न आज भी ज्वलंत दिख रहे हैं । स्त्री शिक्षा का अभाव, अपनी भाषा-संस्कृति के प्रति उपेक्षा भाव, धार्मिक पाखंड, अराजक रूढ़ियां आदि-सब मिलकर भारतीय समाज की आंतरिक शक्ति को जर्जर करते आए हैं और आज भी स्थिति वहीं की वहीं है ।...यह संकलन डेढ़ सौ वर्ष पुराने बंकिम साहित्य को वर्तमान परिवेश में भी अपेक्षाकृत ज्यादा समकालीन साबित करता है । बहरहाल, भारतीय पाठकों के लिए बंकिम किसी भी तरह अपरिचित नहीं हैं । इस पुस्तक का संकलन एवं संपादन अमित्रसूदन भट्टाचार्य ने किया है जो विश्वभारती विश्वविद्यालय में बंगला के विभागाध्यक्ष हैं और बंकिमचंद्र के साहित्य के अधिकारी विद्वान हैं ।

 

विषय-सूची

1

भूमिका

सात

2

बंगदर्शन का घोषणा-पत्र

1

3

भारत कलंक

9

4

बंगदेश का कृषक

23

5

भारतवर्ष की स्वाधीनता एवं पराधीनता

76

6

एकाकी

85

7

विद्यापति और जयदेव

88

8

बंगालियों का बाहुबल

93

9

प्रेम का अत्याचार

101

10

विड़ाल

.110

11

चंद्रलोक

115

12

शकुंतला, मिरांडा एवं डेस्टिमोना

120

13

द्रौपदी

130

14

साम्या/स्त्री जाति

136

15

लोकीशक्षा

151

16

रामधन पोद

155

17

मनुष्यत्व क्या है?

161

18

धर्म एवं साहित्य

171

19

बांग्ला के नव्य लेखकों के प्रति निवेदन

176

20

बांग्ला साहित्य का सम्मान

179

21

द्रौपदी (द्वितीय प्रस्ताव)

185

22

कृष्ण-कथित धर्म-तत्व

192

Sample Page


Add a review

Your email address will not be published *

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

Post a Query

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES

Related Items