Please Wait...

मदनपाल निघण्टु (संस्कृत एवं हिन्दी अनुवाद) - Madanapal Nighantu With Hindi Translation



लेखक परिचय

भारत की आध्यात्मिक योग आयुर्वेद परंपरा के महान संत एवं विद्वान महापुरुष ऋषिकल्प आचार्य बालकृष्ण विश्व स्तर पर योग एवं आयुर्वेद के पुनरुध्दार प्रचार-प्रसार एवं उसे प्रमाणिकता से स्थापित करने में जुटे है! आचार्य जी वैदिक सनातन ऋषि -परंपरा के प्रतिनिधि है !जिनमें महर्षि पतंजलि, महर्षि चरक, सुश्रुत एवं महर्षि धन्वंतरि आदि समस्त ऋषियों का ज्ञान समग्र रूप से समाहित है! आपके नेतृत्व में पतंजलि योगपीठ ने बिना किसी सरकारी सहयोग के योग तथा आयुर्वेदिक चिकित्सा एवं अनुसंधान के क्षेत्र में विश्वस्तरीय कीर्तिमान उदाहरण स्थापित किया है! आपके प्रयास से योग एवं आयुर्वेद पर ८५ पेरेंट्स प्राप्त हो चुके है! आपके मार्गदर्शन में योग एवं आयुर्वेद के ०७ शौध-पत्र पर भारतीय एवं अंतराष्ट्रीय जरनल्स एवं पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुके है! आपको योग एवं आयुर्वेद के क्षेत्र में अमूल्य योगदान के लिए 'वनौषधि ' पंडित व सुज्ञान श्री आदि अनेक विशेष सामानों द्वारा समानित किया गया है! भारत की बहुप्रसिध्द पत्रिका 'इंडिया टुडे ' (८१ नवम्बर ८६६५) तथा 'आउट लुक' (जनवरी ८६७६) नें आचार्य जी की भारत के श्रेष्ठ प्रगाति शील प्रतिभाशाली एवं तेजतर्रार युवाओं में गणना की है! आप योग व आयुर्वेद के क्षेत्र में सर्वाधिक बिकने वाली अनेक सुप्रसिद्ध पुस्तकों के लेखक है! सदियों पुराणी अप्रकाशित आयुर्वेद की पांडुलिपियों का आपने विद्वत्तापूर्ण सम्पादन किया है! २६ लाख से अधिक संख्या में बिकने वाली आयुर्वेद चिकित्सा क्षेत्र की श्रेष्ठ पुस्तक 'औषध -दर्शन' भी आपकी ही अनुपम रचना है! इसके अतिरिक्त हाल ही में आपके स्वप्नशील कार्य 'योग-विशकोष ' तथा विश्व भैषज्य संहिता पर कार्य चल रहा है! आचार्य जी ने अनेक टी.वी. चैनल्स पर प्रवचनों के माध्यम से विश्व के करोड़ों लोगों में जड़ी-बूटियों के प्रयोग एवं आयुर्वेद के प्रति रूचि को पुनः जागृत किया! आप एक महान दिव्यदर्शी, परम तपस्वी, कर्मठ. पुरुषार्थी एवं बहुआयामी व्यक्तिव्य के धनि, विश्वमंगल हेतु सेवा में सलग्न रहनेवाले सहज, सरल किन्तु प्रभावशाली व्यक्ति है! विश्व का विशालतम खाद्य प्रसंकरण पंतञ्जलि फ़ूड एवं हर्बल पार्क आपके ही संकल्प का परिणाम है! आप दिव्या फार्मेसी व पतंजलि आयुर्वेद जैसी विश्व की विशालतम अत्याधुनिक औषध निर्माणशाला के शिल्पी एवं प्रेरक है! ऑर्गेनिक कृषि (जैविक कृषि ) विषमुक्त धरती तथा प्रकृति व पर्यावरण की रक्षा के लिए पतंजलि बायो रिसर्च सैर जैसी संस्थाओं का निर्माण भी आपके ही सोच का मूर्त्त रूप है! आपने अपने दूरदर्शिता के साथ दिव्या योग मंदिर (ट्रस्ट) एवं पतंजलि योगपीठ (ट्रस्ट) के हॉस्पिटल, योगभावं, प्रयोगशालाओं एवं अन्य युगांतकारी सरंचनाओं के निर्माण का नेतृत्त्व किया है






































Add a review

Your email address will not be published *

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

Post a Query

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

Related Items