Please Wait...

पथ के साथी (Reminiscences of Hindi Poets)


 

पथ के साथी

महादेवी वर्मा

जन्म.1907, फर्रूखाबाद (उ.प्र.)

शिक्षा : मिडिल में प्रान्त-भर में प्रथम, इंट्रेंस प्रथम श्रेणी में, फिर 1927 में इंटर, 1929 में बी.ए., प्रयाग विश्वविद्यालय से संस्कृत में एम.ए. 1932 में किया ।

गतिविधियाँ. प्रयाग महिला विद्यापीठ में प्रधानाचार्य और 1960 में कुलपति । 'चाँद' का सम्पादन । 'विश्ववाणी' के 'युद्ध अंक' का सम्पादन । 'साहित्यकार' का प्रकाशन व सम्पादन । नाट्य संस्थान 'रंगवाणी' की प्रयाग में स्थापना ।

पुरस्कार : 'नीरजा' पर सेकसरिया पुरस्कार, 'स्मृति की रेखाएँ' पर द्विवेदी पदक, मंगलाप्रसाद पारितोषिक, उत्तर प्रदेश सरकार का विशिष्ट पुरस्कार, उप. हिंदी संस्थान का ' भारत भारती' पुरस्कार, ज्ञानपीठ पुरस्कार।

उपाधियाँ : भारत सरकार की ओर से पद्मभूषण और फिर पद्मविभूषण अलंकरण । विक्रम, कुमाऊँ, दिल्ली, बनारस विश्वविद्यालयों से डी.लिट्. की उपाधि । साहित्य अकादमी की सम्मानित सदस्या रहीं ।

कृति संदर्भ : यामा, दीपशिखा, पथ के साथी, अतीत के चलचित्र, स्मृति की रेखाएँ, नीरजा, मेरा परिवार, सान्धगीत, चिन्तन के क्षण, सन्धिनी, सप्तपर्णा,   क्षणदा, हिमालय, शृंखला की कड़ियाँ, साहित्यकार की आस्था तथा निबन्ध, 'हू संकल्पित (निबंध); सम्भाषण (भाषण); चिंतन के क्षण (रेडियो वार्ता) नीहार, रश्मि, प्रथम आयाम, अग्निरेखा, यात्रा (कविता-संग्रह) ।

निधन : 11 सितम्बर, 1987

आवरण : लोकभारती स्टूडियो

                                अनुक्रम

 

दो शब्द

 

प्रणाम (रवीन्द्रनाथ ठाकुर)

11

मैथिलीशरण गुप्त

23

सुभद्राकुमारी चौहान

39

सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला'

51

जयशंकर प्रसाद

65

सुमित्रानन्दन पंत

75

सियारामशरण गुप्त

83

 

Sample Pages





Add a review

Your email address will not be published *

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

Post a Query

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES

Related Items