Look Inside

साईं बाबा: Three Books on Sai Baba

$61
Item Code: NZG272
Author: विनी चितलुरी (Vini Chitluri)
Publisher: Sterling Paperbacks
Language: Hindi
ISBN: 9788120766990
Pages: 560 (201 Color Illustrations)
Cover: Paperback
Other Details 8.5 inch X 5.5 inch
Weight 250 gm
Fully insured
Fully insured
Shipped to 153 countries
Shipped to 153 countries
More than 1M+ customers worldwide
More than 1M+ customers worldwide
100% Made in India
100% Made in India
23 years in business
23 years in business
Baba ka Rinanubandh


पुस्तक परिचय तथा लेखक परिचय











Baba ka Gurukul

पुस्तक परिचय तथा लेखक परिचय









Baba ka Anurag

पुस्तक परिचय

बाबा का भक्तों के साथ करुणा, दया और सनेहपूर्ण पारस्परिक व्यवहार था, बाबा शारीरिक रूप से शिरडी छोड़कर बहुत कम जाते थे परन्तु वे नीम गांव में दंगल परिवार और रहाता में सांड परिवार के घर जाते थे! इस पुस्तक में गुरु और शिष्य के बीच भावात्मक और आध्यात्मिक बंधनों का वर्णन है! दूरस्थ रहने वाले भक्तों के घरों में बाबा ने चित्र के रूप में निवास किया! इन भक्तों ने बाबा के चित्र को चित्र न समझ, उसे साक्षात साईं मन और उनकी भक्ति-भाव से पूजा-अर्चना की! बाबा द्वारा प्रदत्त चित्र आज भी इन भक्तों के घरों में संभाल कर रखे हुए है! आज भी इन भक्तों के घरों में जाने पर वहां बाबा की उपस्थिति की अद्भुत अनुभूति होती है! इस पुस्तक में इन भक्तों के जीवन और उनके घरो का वर्णन है ताकि हम इन घरों में जाकर बाबा की कृपा का दिव्य अमृत पान कर सकें और साईं -भक्ति की भाव-भीनी सुंगंध का अनुभव प्राप्त कर सकें!

लेखक परिचय

बहुमुखी प्रतिभा के धनी डॉ. रबिन्द्र नाथ काकरिया का जन्म १९ मार्च १९६७ को दिल्ली विश्वविद्यालय से भौतिक विज्ञानं में एम. एस. सी. की डिग्री प्राप्त कर अध्यापन को इन्होने अपना कार्य-क्षेत्र बनाया! इसी क्रम में अपनी सतत श्रम साधना के बल पर रोहतक विश्वविद्यालय से एम. एड. तथा दिल्ली विश्वविद्यालय से भौतिक विज्ञानं में पी. एच. डी. की उपाधि प्राप्त की!

साईं की कृपा, जन्मजात संस्कार और परिवार के आध्यात्मिक परिवेश ने छात्र जीवन से ही इन्हें अध्यात्म की तरफ मौड़ दिया! अध्यात्म सम्बन्धी कर्त्तव्यों का निर्वाहन करते हुए भी इनकी लेखनी साईं सद साहित्य की रचना में निर्बाध गति से व्यस्त रही! इनके द्वारा संकलित और अनुवादित तीन पुस्तकें : साईं शक्ति, श्री साईं बाबा के प्रतिज्ञापूर्ण वचन, श्री सद्गुरु साईंनाथ सगुणोपासना , शिरडी साईं बाबा मंदिर , सेक्टर ७, रोहिणी , दिल्ली द्वारा प्रकाशित हो चुकी है!

इनकी मधुर आवाज़ में गाये साईं भजनों की कैसेट व ऑडियो सी. डी. साईं समर्पण साईं गुणगान , ॐ साईं जय जय साईं (साईं जाप ) कर्मों का फल भी रिलीज़ हो चुकी है!

बाबा की असीम कृपा से वे मनसा वाचा कर्मणा शिरडी साईं बाबा से सम्बंधित साहित्य लेखन तत्सम्बन्धी प्रचार प्रसार में सलंग्न है

 






Sample Pages

Baba ka Rinanubandh


Baba ka Anurag

Add a review
Have A Question

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES