Look Inside

अँधेरे बंद कमरे: Closed Dark Rooms

FREE Delivery
$26
Quantity
Ships in 1-3 days
Item Code: NZE149
Author: मोहन राकेश (Mohan Rakesh)
Publisher: Rajkamal Prakashan Pvt. Ltd.
Language: Hindi
Edition: 2018
ISBN: 9788126707867
Pages: 391
Cover: Paperback
Other Details 8.5 inch X 5.5 inch
Weight 440 gm
Fully insured
Fully insured
Shipped to 153 countries
Shipped to 153 countries
More than 1M+ customers worldwide
More than 1M+ customers worldwide
100% Made in India
100% Made in India
23 years in business
23 years in business
पुस्तक के विषय में
वर्तमान भारतीय समाज का अभिजात नागर मन को हिस्सों में विभाजित है-एक में है पश्चिम आधुनिकतावाद और दूसरे में वंशानुगत संस्कारवाद! इससे इस वर्ग के भीतर का द्वन्दु पैदा होता है, उससे पूणर्ता के बीच रिक्तता , स्वच्छेन्द्ता के बीच अवरोध और प्रकाश के बीच अन्धकार आ खड़ा होता है! परिणामत: व्यक्ति ऊबने लगता है, भीतर ही भीतर क्रोध, ईर्ष्या और सन्देह जकड़ लेते है उसे, अपने ही लिए अजनबी हो उठता है वह, और तब इसे हम हरबंस की शक्ल में पहचानते हैं-हरबंस इस उपन्यास का केन्द्रीय पात्र, जो दाम्पत्य सम्बन्धों के सहज रागात्मकता, ऊष्मा और अर्थवत्ता की तलाश में भटक रहा है! हरबंस और नीलिमा के माध्यम से पारस्परिक ईमानदारी, भावनात्मक लगाव और मानसिक समदृष्टि से रिक्त दाम्पत्य जीवन का यहाँ प्रभावशाली चित्रण हुआ है! अपनी पहचान के लिए पहचानहीन होते जा रहे भारतीय अभिजातवर्ग की भौतिक, बौद्धिक और सांस्कृतिक महत्वकांक्षाओं के अँधेर बन्द कमरों को खोलनेवाला यह उपन्यास हिन्दी की विशिकष्टम कथाकृतियों में गण्य है!

Sample Page



Add a review
Have A Question

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES